ओल्ड एड्ज होम यानी वृद्ध आश्रम – जरूरत या मजबूरी


हमारे माता-पिता दादा-दादी नाना-नानी सरीखे अनेक संबंध हमारी सामाजिक व्यवस्था के स्तंभ हैं, तथा इनका सानिध्य एक तरह से कवच के तरह है| ताउम्र अपने बच्चो पर सर्वस्व न्यौछावर करने वाले को उसके ही अंतिम पड़ाव में उन हाथों के बजाय वृद्ध आश्रम की जरूरत आन पड़ती है।

इसी तत्वाधान में सांवरी वोमेन एम्पावरमेंट के फाउंडर मेम्बर तथा समाज सेविका श्रीमती सीमा गोयल के साथ श्रीमती नीतू जैन सिंघल, रेणू अग्रवाल, इति गुप्ता, रानी गोयल, पूनम गुप्ता, मंजू सिंगल, कविता गर्ग ,सरिता गुप्ता तथा सविता गुप्ता और सांवरी वोमेन प्रतिनिधिमंडल ने कंझावला स्थित वृद्धआश्रम के साथ कुछ समय साझा करने का प्रयाश किया है और निमित्त कारणों पर शोध तथा दैनिक उपयोग की वस्तुओं का वितरण आदि| क्योंकि ताउम्र हमारे बुजुर्गों ने हर ज़रूरत का ध्यान रखा हैं, जबकि हमें इसकी सबसे ज्यादा ज़रूरत होती है, लेकिन जब उनको उसी स्नेह की आवश्यकता होती है तो हमारे हाथ पीछे हट जाते हैं। कहावत है कि दो माता-पिता मिलकर दस बच्चों को भी पाल सकते हैं, लेकिन दस बच्चे मिलकर भी दो माता-पिता को नहीं पाल सकते।आज के समय में उच्च तबके वाले परिवार के पुरुष अपने बुजुर्गों को अपने तथाकथित समृद्ध मित्रों से मिलवाने में सकोंच करते है और मध्यवर्गीय उच्च वर्गीय बनने के लालच में कंक्रीट जंगलों में हम दो हमारे दो के सपने को साकार करते जा रहे है| ध्यान रहे !!! जहाँ पर माता पिता देव तुल्य है, इस तथ्य को हमें अपने सामाजिक, सांस्कृतिक और खुद के लिए भी गूढ़ चिंतन के उपरांत आत्मसात करने की जरूरत है ।

सांवरी सदस्यों का यह प्रयाश है और विचार है कि समाज के स्तंभ यानि बुजुर्गों के देख रेख के लिए अगर हर परिवार अपने-अपने बुजुर्गों का ख्याल सही तरीके से करता तो शायद उंन्हे वृद्ध आश्रम में जाने की जरूरत नहीं होती। इस सोच के तहत सांवरी वूमेंस ने कंझावला स्थित वृद्ध आश्रम [त्रिवेणी देवी चेरिटेबल सोसायटी ] में दिनांक २६ मई २०१५ को वात्सल्य तथा स्नेह के लालायित लोगो से पारिस्थितिक विषयों पर विचार विमर्श किया तथा मूल कारणों पर उनके अनुभवी विचारों को कलमबद्ध किया ।

Advertisements

About Sanwari Women Empowerment

Sanwari Women Empowerment educates and empowers women, who feel challenged in any manner in whatever form. Be it sociological, economic or for that matter are physical impediments for any women we help them with the skills and confidence necessary to lead a respectable life bereft of any biases in the society and help them in becoming capable of leading a healthy lifestyle, Sanwari regularly conducts training sessions for women in health, education and skill development arenas. We go deep right into the heart and bring about change in the attitude of society so that we can make it a better world. Sanwari Women Empowerment seeks to bring about a passive change in societal thinking where women impromptu gets what she rightfully deserves. Vision Sanwari would be creating a much needed environment where women are not discriminated on the basis of their being a women Sanwari aims to ensure a life with dignity for the women. Through our efforts we aim to have respect for women all around and they always feel at ease. The Sanwari Women Empowerment invites you to join us. If you are interested to get more information about our Society, please contact us at contact@sanwariwomen.com.
This entry was posted in Women Related. Bookmark the permalink.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s